विज्ञापन
Home  dharm  vrat  nirjala ekadashi 2024 date donate do s and don ts in nirjala ekadashi vrat

Nirjala Ekadashi 2024: जानिए निर्जला एकादशी के दिन क्या करें और क्या नहीं?

जीवांजलि धार्मिक डेस्क Published by: निधि Updated Mon, 17 Jun 2024 12:33 PM IST
सार

हर साल ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को निर्जला एकादशी का व्रत रखा जाता है. इस बार निर्जला एकादशी का व्रत 18 जून को रखा जाएगा.

निर्जला एकादशी
निर्जला एकादशी- फोटो : JEEVANJALI

विस्तार

Nirjala Ekadashi 2024: हर साल ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को निर्जला एकादशी का व्रत रखा जाता है. इस बार निर्जला एकादशी का व्रत 18 जून को रखा जाएगा. पंचांग के अनुसार इस बार ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि का प्रारंभ 17 जून दिन सोमवार को  प्रातः काल 04 बजकर 43 मिनट पर शुरू होगी और अगले दिन यानी 18 जून को सुबह 06 बजकर 44 मिनट पर समाप्त होगी। उदया तिथि मानते हुए निर्जला एकादशी 18 जून 2024 को मनाई जाएगी
विज्ञापन
विज्ञापन


 शास्त्रों में निर्जला एकादशी को सभी 24 एकादशियों में सबसे शुभ और पुण्यदायी बताया गया है. मान्यता है कि अकेले निर्जला एकादशी का व्रत रखने से सभी एकादशी व्रतों के बराबर पुण्य मिलता है. इस व्रत में पानी पीना भी वर्जित माना गया है, इसलिए इसे निर्जला एकादशी कहा जाता है. निर्जला एकादशी के व्रत का शुभ फल पाने के लिए लोगों को कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए. ऐसे में आइए जानते हैं निर्जला एकादशी व्रत के दिन क्या करें और क्या न करें...

निर्जला एकादशी पर क्या करें और क्या नहीं

- निर्जला एकादशी व्रत को सबसे कठिन माना जाता है. इस समय बहुत गर्मी होती है और इस एकादशी व्रत में पानी की एक बूँद भी वर्जित होती है. इसलिए आपको खुद को मानसिक रूप से मजबूत रखना होगा।
विज्ञापन

- निर्जला एकादशी व्रत से एक दिन पहले मांस, मदिरा और मांसाहारी खाद्य पदार्थों का सेवन करने से बचना चाहिए. वहीं दशमी के दिन व्रत खोलने के बाद भी सात्विक भोजन ही करें.
- निर्जला एकादशी व्रत में संयम और ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहिए. इस दिन दान का भी बहुत महत्व है. व्रत के दिन जल से भरा घड़ा दान करें और प्यासे लोगों को पानी पिलाएं.
- निर्जला एकादशी के दिन अपने घर की छत पर या खुले में किसी पेड़ के नीचे पशु-पक्षियों के लिए पानी और अनाज की व्यवस्था अवश्य करें. इससे भगवान विष्णु की कृपा प्राप्त होगी.
-  निर्जला एकादशी के दिन घर में झाड़ू न लगाएं. ऐसा करने से कीड़े-मकौड़े, चीटियां आदि छोटे जीव मर सकते हैं, जिससे जीव हत्या का दोष लग सकता है।
- अगर किसी ने निर्जला एकादशी के दिन व्रत नहीं भी रखा है तो भी उसे इस दिन चावल नहीं खाना चाहिए। चावल के अलावा इस दिन बैंगन, गाजर, शलजम आदि खाना वर्जित है।



निर्जला एकादशी के दिन व्रत रखने के अलावा कुछ चीजों का दान करने से कई गुना अधिक लाभ मिलता है। तो चलिए आज जानते हैं निर्जला एकादशी के दिन किन चीजों का दान करना शुभ होता है...

निर्जला एकादशी के दिन करें इन चीजों का दान

- धार्मिक मान्यताओं के अनुसार नमक का दान करने से घर में कभी भी अन्न की कमी नहीं होती है। इसलिए निर्जला एकादशी के दिन नमक का दान अवश्य करें।

- निर्जला एकादशी के दिन तिल का दान करना शुभ होता है। कहा जाता है कि इस दिन तिल का दान करने से असाध्य रोगों से मुक्ति मिलती है।

- निर्जला एकादशी के दिन वस्त्र दान करना शुभ माना जाता है। हो सके तो निर्जला एकादशी के दिन वस्त्र दान करें। इस दिन ऐसा करने से लंबी आयु का वरदान मिलता है।

- अनाज का दान करना शुभ माना जाता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार जो लोग अनाज का दान करते हैं उन्हें जीवन में कभी किसी प्रकार की कमी का सामना नहीं करना पड़ता। ऐसे लोगों को भगवान विष्णु का आशीर्वाद हमेशा मिलता रहता है।

यह भी पढ़ें:-
Palmistry: हस्तरेखा में इन रेखाओं को माना जाता है बेहद अशुभ, व्यक्ति के जीवन में लाती हैं दुर्भाग्य
Upnayan Sanskar: क्या होता है उपनयन संस्कार जानिए महत्व और संस्कार विधि
Worshipping Trees: हिंदू धर्म में पेड़ों की पूजा का क्या है महत्व जानिए
विज्ञापन