विज्ञापन
Home  yoga  sirsasana shirshasana is not easy it is practiced on the head keep these things in mind before doing it 2023 08 14

Sirsasana: आसान नहीं है शीर्षासन, सिर के बल किया जाता इसका अभ्यास, करने से पहले इन बातों का रखें ध्यान

jeevanjali Published by: निधि Updated Mon, 14 Aug 2023 06:02 PM IST
सार

शीर्षासन करना काफी मुश्किल है। क्योंकि ये सिर के बल किया जाता है, इसी वजह से इसका नाम शीर्षासन रखा गया है।

शीर्षासन
शीर्षासन- फोटो : jeevanjali

विस्तार

शीर्षासन करना काफी मुश्किल है। क्योंकि ये सिर के बल किया जाता है, इसी वजह से इसका नाम शीर्षासन रखा गया है। इसके अभ्यास करने से व्यक्ति बीमारियों से दूर रहते हैं इस आसन को हर कोई व्यक्ति नहीं कर सकता है। हर एक के लिए सहज नहीं है। आइए जानते है इस आसन को किस तरह से किया जाता है वहीं दूसरी और शीर्षासन करने से व्यक्ति के सेहत को क्या-क्या लाभ मिलते है। 

विज्ञापन
विज्ञापन
किस तरह करें शीर्षासन जाने

- शीर्षासन करने के लिए के सबसे पहले समतल स्थान पर चटाई या फिर योगा मैट बिछा लें इसके बाद वज्रासन की स्थिति में बैठ जाएं। 
- फिर आगे की ओर झुकें और दोनों हाथों की कोहनियों को जमीन पर टिकाएं।
- दोनों हाथों की उंगलियों को आपस में मिला लें। अब सिर को धीरे-धीरे दोनों हथेलियों के बीच रखें।
-  सामान्य रूप से सांस लें, बहुत तेजी से सांस लेने की कोशिश न करें।
- इसके बाद आराम आराम से अपने दोनों पैरों को ऊपर उठाएं और सीधे हो जाए ।
- सिर को जमीन पर टिकाने के बाद धीरे-धीरे शरीर का पूरा भार छोड़कर शरीर को ऊपर उठाना शुरू करें, अब शरीर का भार सिर पर लें।
शरीर को धीरे-धीरे सीधा कर लें।

फायदे

- शीर्षासन करने व्यक्ति का पाचनतंत्र मजबूत रहता है।
- इससे मस्तिष्क का रक्त संचार बढ़ता है, जिससे हमारी सोचने की शक्ति शक्ति बढ़ जाती है। 
- इस आसन से हमारा पूरे शरीर की मांसपेशियां सक्रिय हो जाती है और सही तरह से काम करती है। 
- इस आसन से शरीर में ताकत आती है।
- आत्मविश्वास बढ़ता है और मन में कोई भी भय नहीं रहता है। 

इन बातों का रखा ध्यान

- अगर आप पूरी तरह से स्वस्थ नहीं हैं तो इस आसन का अभ्यास करने से पहले किसी योग शिक्षक से सलाह जरूर लें।
विज्ञापन