विज्ञापन
Home  dharm  vrat  shani pradosh vrat 2024 to get the blessings of shani dev along with lord shiva observe shani pradosh vrat 2024 04 02

Shani pradosh vrat 2024: भगवान शिव के साथ शनिदेव की कृपा प्राप्ति के लिए करें शनि प्रदोष व्रत, ये है पूजा विधि

jeevanjali Published by: निधि Updated Tue, 02 Apr 2024 03:55 PM IST
सार

Shani pradosh vrat 2024: एक माह में दो पक्ष होते हैं, कृष्ण पक्ष और शुक्ल पक्ष। दोनों पक्षों की त्रयोदशी तिथि को प्रदोष व्रत रखा जाता है। इस प्रकार प्रत्येक माह में दो प्रदोष व्रत आते हैं।

शनि प्रदोष व्रत 2024
शनि प्रदोष व्रत 2024- फोटो : JEEVANJALI

विस्तार

Shani pradosh vrat 2024: एक माह में दो पक्ष होते हैं, कृष्ण पक्ष और शुक्ल पक्ष। दोनों पक्षों की त्रयोदशी तिथि को प्रदोष व्रत रखा जाता है। इस प्रकार प्रत्येक माह में दो प्रदोष व्रत आते हैं। प्रदोष व्रत का नाम उस दिन के अनुसार रखा जाता है जिस दिन यह पड़ता है। इस बार प्रदोष व्रत शनिवार यानि आज रखा गया है इसलिए इसे शनि प्रदोष कहा जा रहा है। प्रदोष व्रत भगवान शिव को समर्पित है।

विज्ञापन
विज्ञापन
ज्योतिषियों के अनुसार, शनि प्रदोष व्रत करने से भक्तों को भगवान शिव के साथ-साथ शनि देव का भी आशीर्वाद मिलता है। ऐसा माना जाता है कि जो व्यक्ति प्रदोष व्रत करता है उसे सभी रोगों और दोषों से मुक्ति मिल जाती है। कहा जाता है कि ऐसे व्यक्ति की कुंडली के सभी दोष भी समाप्त हो जाते हैं।

शनि प्रदोष पूजा विधि

ज्योतिषाचार्य पंडित जोखन पांडे शास्त्री के अनुसार शनि प्रदोष के दिन ब्रह्म मुहूर्त में उठें। स्नान के बाद भगवान शिव का ध्यान करें। उनके मंत्रों का जाप करें. सुबह भगवान शिव को बेलपत्र, गंगाजल, अक्षत, धूप और दीप अर्पित करें। शनि प्रदोष व्रत का संकल्प लें और उस दिन व्रत रखें। शाम के समय जब सूर्य अस्त होता है और रात्रि आती है वह समय प्रदोष काल कहलाता है। मान्यता है कि प्रदोष काल में भगवान शिव साक्षात् शिवलिंग में प्रकट होते हैं। इसलिए इस समय भगवान शिव का स्मरण और पूजन करने से सर्वोत्तम फल की प्राप्ति होती है।

विज्ञापन
यह भी पढ़ें- 
Shri Hari Stotram:जगज्जालपालं चलत्कण्ठमालं, जरूर करें श्री हरि स्तोत्र का पाठ
Parikrama Benefit: क्या है परिक्रमा करने का लाभ और सही तरीका जानिए
Kala Dhaga: जानें क्यों पैरों में पहनते हैं काला धागा, क्या है इसका भाग्य से कनेक्शन?
Astrology Tips: इन राशि वालों को कभी नहीं बांधना चाहिए लाल धागा, फायदे की जगह हो सकता है नुकसान
विज्ञापन