विज्ञापन
Home  dharm  why do we have dreams know the religious and scientific reasons

Dream and Science: सपने हमें क्यों आते हैं? जानिए धार्मिक और वैज्ञानिक कारण

Jeevanjali Published by: सुप्रिया शर्मा Updated Sat, 22 Jun 2024 06:00 AM IST
सार

Dream and Science: सपने सदियों से मानवता को मोहित करते रहे हैं। वे रहस्यमय, भ्रमित करने वाले और कभी-कभी गहरे अर्थपूर्ण भी होते हैं। विभिन्न धर्मों ने सपनों की प्रकृति और उनके अर्थ को समझने के लिए सदियों से विभिन्न व्याख्याएं प्रस्तुत की हैं।

Dream and Science:
Dream and Science:- फोटो : jeevanjali

विस्तार

Dream and Science: सपने सदियों से मानवता को मोहित करते रहे हैं। वे रहस्यमय, भ्रमित करने वाले और कभी-कभी गहरे अर्थपूर्ण भी होते हैं। विभिन्न धर्मों ने सपनों की प्रकृति और उनके अर्थ को समझने के लिए सदियों से विभिन्न व्याख्याएं प्रस्तुत की हैं। कई धर्मों में सपनों को ईश्वर या आध्यात्मिक प्राणियों से संदेश माना जाता है। इनका उपयोग मार्गदर्शन, चेतावनी या भविष्य की भविष्यवाणी प्रदान करने के लिए किया जा सकता है। कुछ धर्मों का मानना है कि सपने हमारी आत्मा को भौतिक शरीर से बाहर निकलने और आध्यात्मिक दायरे का पता लगाने की अनुमति देते हैं।अन्य धर्म सपनों को अचेतन मन की एक अभिव्यक्ति के रूप में देखते हैं, जो हमारी छिपी हुई भावनाओं, विचारों और इच्छाओं को उजागर करते हैं। कुछ धर्मों में सपनों को केवल मनोरंजन का एक रूप या कल्पना का उत्पाद माना जाता है।
विज्ञापन
विज्ञापन


सपनों के लिए क्या कहता है धार्मिक दृष्टिकोण:

हिंदू धर्म में, सपनों को चार प्रकारों में वर्गीकृत किया जाता है:

देवस्वप्न: ईश्वरीय सपने जो शुभ संकेत देते हैं और आध्यात्मिक विकास का मार्गदर्शन करते हैं।
यक्षस्वप्न: आध्यात्मिक प्राणियों से संबंधित सपने जो भविष्य के बारे में संकेत दे सकते हैं।
मायस्वप्न: भ्रमपूर्ण सपने जो मोहक और भ्रमित करने वाले होते हैं।
तामसस्वप्न: नकारात्मक सपने जो भय, चिंता और परेशानी पैदा करते हैं। 


साथ ही हिंदू ग्रंथों में सपनों के महत्व पर अनेक उदाहरण और व्याख्याएं मिलती हैं। यह माना जाता है कि सपने हमें हमारे अचेतन मन, दिव्य संदेशों और आध्यात्मिक मार्गदर्शन से जोड़ सकते हैं।
विज्ञापन


सपनों के लिए क्या कहता है वैज्ञानिक दृष्टिकोण:

- एक सिद्धांत यह है कि सपने हमारे मस्तिष्क को दिन भर में एकत्रित जानकारी को संसाधित करने और यादों को मजबूत करने में मदद करते हैं। मस्तिष्क हालिया घटनाओं और अनुभवों को फिर से चलाता है, उन्हें दीर्घकालिक भंडारण में स्थानांतरित करता है, और भावनात्मक रूप से महत्वपूर्ण घटनाओं को उजागर करता है।

- सपने हमें अपनी भावनाओं को समझने और उनसे निपटने में भी मदद कर सकते हैं। वे हमें तनावपूर्ण या कठिन भावनाओं को सुरक्षित वातावरण में अनुभव करने और उनका पता लगाने की अनुमति देते हैं।

- सपने रचनात्मक सोच और समस्या समाधान को प्रेरित कर सकते हैं। मस्तिष्क रूढ़ियों से मुक्त हो जाता है और नए विचारों और संघों का पता लगा सकता है।

- कुछ शोध बताते हैं कि सपने हमें वास्तविक जीवन में उपयोग किए जाने वाले कौशलों का अभ्यास करने में मदद कर सकते हैं, जैसे कि मोटर कौशल या सामाजिक कौशल।

ये तो हमने आप को सपने के धार्मिक और वैज्ञानिक दृष्टिकोण बता दिया लेकिन सपनों के बारे में कुछ अतिरिक्त तथ्य भी है जो आप को जानना बेहद जरुरी है जैसे:-

- सभी लोग सपने देखते हैं, भले ही उन्हें याद न हो।
- सपने रंगीन या काले और सफेद हो सकते हैं।
- सपने किसी भी भावना को शामिल कर सकते हैं, सकारात्मक और नकारात्मक दोनों।
- कुछ लोग दूसरों की तुलना में अधिक बार सपने देखते हैं।
- कुछ दवाएं और स्वास्थ्य स्थितियां सपनों को प्रभावित कर सकती हैं।

यह भी पढ़ें:-
Laddu Gopal: भगवान श्री कृष्ण को क्यों कहा जाता है लड्डू गोपाल? पढ़िये क्या है इस नाम के पीछे की कहानी
Yogini Ekadashi 2024: योगिनी एकादशी के दिन क्या करें और क्या नहीं? जानिए इस व्रत से जुड़े जरूरी नियम
Kainchi Dham Kaise Jaye: कैसे पहुंचें कैंची धाम? जाने से पहले जरूर जान लें ये जरूरी बातें!

विज्ञापन