विज्ञापन
Home  dharm  what are the religious cultural and scientific reasons for wearing black thread on hand

How to Wear Black Thread: क्या हैं हाथ में काला धागा पहनने के धार्मिक, सांस्कृतिक और वैज्ञानिक कारण?

जीवांजलि डेस्क Published by: सुप्रिया शर्मा Updated Sat, 15 Jun 2024 11:34 AM IST
सार

क्यों पहना जाता है काला धागा चलिए आज आप को इस लेख में हम आप को बताते हैं काला धागा पहनने के धार्मिक, सांस्कृतिक और वैज्ञानिक कारण?
 

काला धागा
काला धागा- फोटो : jeevanjali

विस्तार

आप ने कई लोगों को काला धागा पहनते हुए देखा होगा, कोई काला धागा हाथ में पहनता है, कोई पैर में या कोई कमर पर लेकिन कभी आप ने सोचा हैं ये काला धागा क्यों पहना जाता है? काला धागा पहने से क्या होता है? और आखिर क्यों पहना जाता है काला धागा चलिए आज आप को इस लेख में हम आप को बताते हैं काला धागा पहनने के धार्मिक, सांस्कृतिक और वैज्ञानिक कारण?
विज्ञापन
विज्ञापन


सब से पहले जान लेते हैं काला धागा पहनने के धार्मिक कारण:

बुरी नजर से बचाव: यह सबसे आम धारणा है। माना जाता है कि काला धागा नकारात्मक ऊर्जा को सोख लेता है और बुरी नजर से बचाता है।

ग्रहों का प्रभाव: ज्योतिष शास्त्र में, काला धागा शनि ग्रह से जुड़ा होता है। शनि ग्रह को कर्म और न्याय का देवता माना जाता है। काला धागा पहनने से शनि की पीड़ा कम होने और शुभ फल प्राप्त होने की मान्यता है।

धार्मिक अनुष्ठान: कई धार्मिक अनुष्ठानों में काले धागे का इस्तेमाल होता है। हिंदू धर्म में, रक्षाबंधन के त्योहार पर बहनें अपने भाईयों की कलाई पर काला धागा बांधती हैं।
विज्ञापन


 काला धागा पहनने के सांस्कृतिक कारण:

सुरक्षा: कई संस्कृतियों में, काला धागा को सुरक्षा का प्रतीक माना जाता है। नवजात शिशुओं और छोटे बच्चों को अक्सर बुरी आत्माओं से बचाने के लिए काला धागा पहनाया जाता है।

भाग्य: कुछ लोगों का मानना है कि काला धागा भाग्य को बेहतर बनाने में मदद करता है।

काला धागा पहनने के वैज्ञानिक कारण:

मनोवैज्ञानिक प्रभाव: काला धागा पहनने से कुछ लोगों को मानसिक शांति और सुरक्षा का एहसास होता है। यह सकारात्मक सोच को बढ़ावा दे सकता है और तनाव को कम कर सकता है।

रोग प्रतिरोधक क्षमता: कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि काले धागे में मौजूद सूक्ष्मजीव रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं।

अब जान लीजिए काला धागा पहनने का सही तरिका:

बाएं हाथ में: हिंदू धर्म में, आमतौर पर बाएं हाथ में काला धागा पहना जाता है। कहा जाता है कि यह ह्रदय के करीब होता है और नकारात्मक ऊर्जा को शरीर में प्रवेश करने से रोकता है।

दाहिने हाथ में: कुछ लोग दाहिने हाथ में भी काला धागा पहनते हैं। यह माना जाता है कि यह सकारात्मक ऊर्जा को आकर्षित करता है।

अंगूठे में: कुछ लोग अंगूठे में काला धागा पहनते हैं। यह ग्रह शनि के प्रभाव को कम करने में मदद करने के लिए माना जाता है।

कुछ और भी बाते हैं जो आप को काला धागा बांधते समय ध्यान रखनी है जैसे:

- धागे को किसी बुजुर्ग, संत या गुरु से बंधवाना शुभ माना जाता है।
- धागे को नौ गांठें लगाकर बांधना चाहिए।
- धागे को हमेशा स्वच्छ रखना चाहिए।
- जब धागा टूट जाए या खराब हो जाए तो उसे बदल देना चाहिए।
 
विज्ञापन