विज्ञापन
Home  dharm  vrat  sawan 2024 date shiv ji ke bhog sawan somwar bhog shiv favorite bhog

Sawan 2024: सावन में भगवान शिव को करना चाहते हैं प्रसन्न, तो लगाएं इन चीज़ों का भोग

जीवांजलि धर्म डेस्क Published by: निधि Updated Tue, 02 Jul 2024 04:09 PM IST
सार

Shravan Month 2024:  22 जुलाई, सोमवार सावन का पहला दिन है। सावन का महीना भगवान शिव को बहुत प्रिय है। सावन के महीने में भगवान शिव की विशेष पूजा करने की परंपरा है।

Shravan Month 2024:
Shravan Month 2024:- फोटो : jeevanjali

विस्तार

Shravan Month 2024:  22 जुलाई, सोमवार सावन का पहला दिन है। सावन का महीना भगवान शिव को बहुत प्रिय है। सावन के महीने में भगवान शिव की विशेष पूजा करने की परंपरा है। सावन के महीने में सुबह से ही मंदिरों में भीड़ जुटने लगती है। मान्यता है कि देवी सती ने पर्वतराज हिमालय के घर पार्वती के रूप में पुनर्जन्म लिया था। देवी पार्वती ने भगवान शिव को फिर से अपना पति बनाने के लिए सावन के महीने में कठोर तपस्या की थी। इसके बाद भगवान शिव प्रसन्न हुए और माता पार्वती की इच्छा पूरी की और उनसे विवाह किया। सावन के महीने में ही भगवान भोले शंकर ने देवी पार्वती को अपनी पत्नी के रूप में स्वीकार किया था, इसलिए सावन का महीना भगवान शिव को बहुत प्रिय है।
विज्ञापन
विज्ञापन

कब है सावन 2024 ? When is Sawan 2024?

सावन माह 22 जुलाई 2024 से शुरू होने जा रहा है। इसका समापन 19 अगस्त 2024 को होगा। इस दौरान सावन का पहला सोमवार व्रत 22 जुलाई 2024 को रखा जाएगा। दूसरा सोमवार व्रत 29 जुलाई, तीसरा 5 अगस्त, चौथा 12 अगस्त और पांचवां सोमवार व्रत 19 अगस्त 2024 को रखा जाएगा।

22 जुलाई को सावन का पहला सोमवार First Monday of Sawan On 22nd July

सोमवार का दिन भगवान शिव की पूजा के लिए विशेष होता है। ऐसे में जब सावन का महीना सोमवार से शुरू हो रहा है तो दिन और भी महत्वपूर्ण हो जाता है। 22 जुलाई 2024 को सावन का पहला सोमवार है। ऐसे में इस दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान करने के बाद शिव मंदिर जाना चाहिए। सबसे पहले भगवान गणेश की पूजा करें और फिर शिवलिंग पर जल से अभिषेक करें। इसके बाद शिवलिंग पर बिल्व पत्र चढ़ाएं। अन्य पूजन सामग्री से शिवलिंग का श्रृंगार करें।
विज्ञापन

भगवान शिव के भोग Offer This Bhog To Lord Shiva

मान्यता है कि इस दौरान अगर भोलेनाथ के जलाभिषेक के साथ ये प्रसाद भी चढ़ाया जाए तो इससे आपको बहुत लाभ मिलता है. महादेव की पसंदीदा चीजों में से एक है सूजी का हलवा और मालपुआ. अगर आप भगवान शिव को प्रसन्न करना चाहते हैं तो इन दो चीजों का भोग जरूर लगाएं. इसके अलावा आप उन्हें सफेद बर्फी, मखाने की खीर, पंचामृत, दूध, दही, शहद या भांग भी चढ़ा सकते हैं. मान्यता है कि भोलेनाथ को शहद चढ़ाने से आपके ग्रह शांत होते हैं.

सावन के इस पवित्र महीने में भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा करने के बाद उन्हें चावल से बनी खीर का भोग लगाना चाहिए। इससे व्यक्ति को शिव और शक्ति दोनों का आशीर्वाद प्राप्त होता है। साथ ही जीवन में सुख-समृद्धि बनी रहती है। लेकिन ध्यान रखें कि खीर में इस्तेमाल किए जाने वाले चावल साबुत होने चाहिए।

सूजी का हलवा है भगवान की प्रिय

सूजी का हलवा भगवान शिव के पसंदीदा भोगों में से एक है। भगवान शिव को सूजी का हलवा चढ़ाने से उनकी कृपा प्राप्त होती है। भोग लगाने के बाद इस प्रसाद को लोगों में बांटें।

आलू का हलवा चढ़ाएं

किसी भी व्रत में आलू का इस्तेमाल मुख्य रूप से किया जाता है। सावन के इस पवित्र महीने में भगवान शिव को आलू का हलवा चढ़ाएं। इससे घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है।

भगवान शिव को साबूदाने की खीर का भोग लगाएं

किसी भी व्रत में साबूदाने का इस्तेमाल जरूर किया जाता है। सावन के महीने में आप भगवान शिव को साबूदाने की खीर का भोग लगा सकते हैं। इसके साथ ही आप भगवान शिव को कुट्टू के पकौड़े का भोग भी लगा सकते हैं। इससे भी भगवान जल्दी प्रसन्न होते हैं।

महिलाएं रखती हैं सावन सोमवार का व्रत Why Do Women Observe The Fast On Sawan Monday?

सावन सोमवार का व्रत विवाहित महिलाएं और लड़कियां दोनों ही रखती हैं। जहां विवाहित महिलाएं अपने पति की लंबी आयु और अच्छे स्वास्थ्य के लिए सावन सोमवार का व्रत रखती हैं, वहीं लड़कियां भगवान शिव की तरह भविष्य में अच्छा पति पाने की कामना के साथ सावन सोमवार का व्रत रखती हैं। व्रत रखने वाली महिलाएं सुबह जल्दी उठकर स्नान करने के बाद शिव मंदिर में जाकर भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा करती हैं। सावन में शिव-पार्वती की पूजा करने से विवाह संबंधी सभी तरह की समस्याओं से मुक्ति मिलती है।

यह भी पढ़ें-
Sawan Month Shiva Puja Vidhi: भगवान शिव की पूजा में क्यों वर्जित है शंख? जानिए क्या है वजह
Hariyali Teej 2024: इस साल कब मनाई जाएगी हरियाली तीज जानिए सही तिथि और शुभ मुहूूर्त
First Wedding Invitation: सबसे पहले किसे दिया जाता है शादी का कार्ड, जानिए
विज्ञापन