विज्ञापन
Home  dharm  vrat  kamika ekadashi 2024 when is kamika ekadashi know the date and auspicious time

Kamika Ekadashi 2024: कब है कामिका एकादशी जानिए तिथि और शुभ मुहूर्त

जीवांजलि धार्मिक डेस्क Published by: कोमल Updated Sun, 23 Jun 2024 01:17 PM IST
सार

Kamika Ekadashi 2024: कामिका एकादशी को पवित्रा एकादशी के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन भगवान विष्णु के उपेंद्र अवतार की पूजा की जाती है। इस एकादशी का व्रत करने से पिछले जन्म की बाधाएं दूर होती हैं।

कामिका एकादशी 2024
कामिका एकादशी 2024- फोटो : jeevanjali

विस्तार

Kamika Ekadashi 2024: कामिका एकादशी को पवित्रा एकादशी के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन भगवान विष्णु के उपेंद्र अवतार की पूजा की जाती है। इस एकादशी का व्रत करने से पिछले जन्म की बाधाएं दूर होती हैं। इस पवित्र एकादशी व्रत का फल हजारों गायों के दान के बराबर होता है और इसे दोनों लोकों में श्रेष्ठ माना जाता है। यह एकादशी जीवन में समृद्धि और खुशियां लाती है।
विज्ञापन
विज्ञापन

कामिका एकादशी 2024: तिथि और शुभ मुहूर्त

जुलाई 2024 में कामिका एकादशी का पर्व 31 जुलाई, बुधवार को पड़ रहा है। इस दिन शुभ मुहूर्त का विशेष महत्व होता है। आइए जानते हैं इस साल कामिका एकादशी से जुड़ी महत्वपूर्ण तिथियां और मुहूर्त:

एकादशी तिथि प्रारंभ: 31 जुलाई 2024, बुधवार, 03:50 AM (सूर्योदय से पहले)
द्वादशी तिथि प्रारंभ: 01 अगस्त 2024, गुरुवार, 04:13 AM (सूर्योदय के बाद)
पारण समय: 01 अगस्त 2024, गुरुवार, 06:27 AM से 08:50 AM

विज्ञापन


योग

कामिका एकादशी पर ध्रुव योग बन रहा है। इस योग का संयोग दोपहर 02:14 मिनट तक है। ज्योतिषी ध्रुव योग को बहुत ही शुभ मान रहे हैं। इस योग में भगवान श्री हरि विष्णु की पूजा करने से साधक को मनचाहा फल मिलेगा। साथ ही शुभ कार्यों में सफलता मिलेगी। इस दिन सर्वार्थ सिद्धि योग का संयोग भी बन रहा है। सर्वार्थ सिद्धि योग पूरे दिन है।

शिववास योग

कामिका एकादशी पर देवों के देव महादेव कैलाश पर्वत पर विराजमान रहेंगे। इस समय भगवान शिव का अभिषेक करने से साधक को सभी प्रकार के सुखों की प्राप्ति होती है। भगवान शिव दोपहर 03:55 बजे तक कैलाश पर रहेंगे। इसके बाद वे नंदी पर सवार होंगे। अभिषेक के लिए दोनों ही समय अनुकूल हैं। इस समय भगवान नारायण की पूजा करने से भक्त के सुख-सौभाग्य में भी वृद्धि होगी।

कामिका एकादशी व्रत का महत्व

कामिका एकादशी के दिन भगवान विष्णु की पूजा करना बहुत लाभकारी माना जाता है। इसके प्रभाव से सभी अधूरे कार्य पूरे हो जाते हैं। इस दिन भगवान विष्णु की पूजा करने से न केवल भक्त को लाभ मिलता है, बल्कि उसके पितरों के कष्ट भी दूर होते हैं। कामिका एकादशी के अवसर पर तीर्थ स्थानों पर नदी, सरोवर या तालाब में स्नान करने से अश्वमेध यज्ञ करने के समान फल मिलता है। अगर आप भगवान विष्णु को प्रसन्न करना चाहते हैं तो तुलसी के पत्तों से उनकी पूजा करें। इससे न केवल वे प्रसन्न होंगे बल्कि आपके सभी कष्ट भी दूर होंगे। कामिका एकादशी की कथा सुनना यज्ञ करने के समान फलदायी होता है।
 

Akshat Puja: पूजा में क्यों चढ़ाया जाता है अक्षत, जानिए अक्षत का महत्व

Lord Vishnu: भगवान विष्णु को क्यों कहा जाता है नारायण ? जानिए इसके पीछे की कहानी

Shani Upay: कैसे पहचानें कुंडली में कमजोर शनि के लक्षण? जानिए शनि ग्रह को मजबूत करने के उपाय

विज्ञापन