विज्ञापन
Home  dharm  vrat  budh pradosh vrat july 2024 when is the first pradosh fast of july note the date and auspicious time

Budh Pradosh Vrat July 2024: कब है जुलाई का पहला प्रदोष व्रत? नोट कर लें तिथि और शुभ मुहूर्त

जीवांजलि धर्म डेस्क Published by: निधि Updated Thu, 27 Jun 2024 08:00 AM IST
सार

Budh Pradosh Vrat 2024: पंचांग के अनुसार आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी तिथि के अनुसार 3 जुलाई को सुबह 7:10 बजे से शुरू होगी और 4 जुलाई को सुबह 5:54 बजे समाप्त होगी।  शिव पूजा का समय शाम 06:15 बजे से रात 08:47 बजे तक रहेगा.

Budh Pradosh Vrat July 2024
Budh Pradosh Vrat July 2024- फोटो : jeevanjali

विस्तार

Budh Pradosh Vrat 2024: सनातन धर्म में प्रदोष व्रत का बहुत महत्व है. इस दिन भक्त भगवान भोलेनाथ के लिए व्रत रखते हैं और विधि-विधान से पूजा करते हैं. मान्यता है कि इस व्रत को करने से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं और अपने भक्तों को सुख, शांति और समृद्धि का आशीर्वाद देते हैं. जुलाई का पहला प्रदोष व्रत 03 जुलाई दिन बुधवार को है. पंचांग के अनुसार आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी तिथि के अनुसार 3 जुलाई को सुबह 7:10 बजे से शुरू होगी और 4 जुलाई को सुबह 5:54 बजे समाप्त होगी।  शिव पूजा का समय शाम 06:15 बजे से रात 08:47 बजे तक रहेगा. जब त्रयोदशी तिथि बुधवार को पड़ती है तो इसे बुध प्रदोष व्रत कहा जाता है. इस दिन व्रत और पूजा करने से भगवान शिव के साथ भगवान गणेश का भी आशीर्वाद प्राप्त होता है. मान्यता है कि इस व्रत को करने से लंबी आयु का वरदान मिलता है.

विज्ञापन
विज्ञापन

जुलाई का पहला प्रदोष व्रत 2024 कब है?

वैदिक पंचांग के अनुसार आषाढ़ मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि 3 जुलाई को सुबह 7:10 बजे से शुरू होगी और 4 जुलाई को सुबह 5:54 बजे समाप्त होगी। पंचांग के अनुसार प्रदोष व्रत 3 जुलाई 2024 बुधवार को रखा जाएगा। आपको बता दें कि प्रदोष व्रत की पूजा प्रदोष काल यानी शाम के समय की जाती है। मान्यता है कि प्रदोष काल में भोलेनाथ प्रसन्न मुद्रा में होते हैं और ऐसे में वे अपने भक्तों की हर मनोकामना पूरी करते हैं।

बुध प्रदोष व्रत 2024 शुभ मुहूर्त

बुधवार को पड़ने वाले प्रदोष व्रत को बुध प्रदोष व्रत कहा जाता है और इस दिन अगर शुभ मुहूर्त में भोलेनाथ की पूजा की जाए तो उनकी विशेष कृपा प्राप्त होती है। 3 जुलाई को पूजा का शुभ मुहूर्त शाम 7:23 बजे से रात 9:24 बजे तक रहेगा। बुध प्रदोष व्रत के दिन सर्वार्थ सिद्धि योग बन रहा है जो पूरे दिन रहेगा और इस योग में अगर कोई काम किया जाए तो वह जरूर सफल होता है।
विज्ञापन



 
विज्ञापन