विज्ञापन
Home  dharm  swastik sign what is the importance of swastik in hinduism know how swastik should be

Swastik Sign: हिन्दु धर्म में क्या है स्वस्तिक का महत्व जानिए कैसा होना चाहिए स्वस्तिक

जीवांजलि धार्मिक डेस्क Published by: कोमल Updated Wed, 26 Jun 2024 07:08 AM IST
सार

Swastik Sign: हिन्दु धर्म में स्वस्तिक का बहुत अधिक महत्व है हर शुभ काम की शुरुआत करने से पहले स्वस्तिक जरूर बनाया जाता है आपको बता दें कि ये चिन्ह कल्याण करने वाला माना जाता है। इसके साथ ही स्वस्तिक के बिना किसी भी पूजा का शुभारंभ नहीं किया जाता है

स्वस्तिक का महत्व
स्वस्तिक का महत्व- फोटो : jeevanjali

विस्तार

Swastik Sign: हिन्दु धर्म में स्वस्तिक का बहुत अधिक महत्व है हर शुभ काम की शुरुआत करने से पहले स्वस्तिक जरूर बनाया जाता है आपको बता दें कि ये चिन्ह कल्याण करने वाला माना जाता है। इसके साथ ही स्वस्तिक के बिना किसी भी पूजा का शुभारंभ नहीं किया जाता है वहीं हिन्दु धर्म शास्त्रों के अनुसार स्वस्तिक को मां लक्ष्मी का स्वरूप और भगवान विष्णु के आसन के रूप में माना जाता है चलिए आपको बताते हैं स्वस्तिक को शुभ क्यों माना जाता है

विज्ञापन
विज्ञापन

कैसा होना चाहिए स्वस्तिक  Kaisa Hona Chaahiye Svastik

स्वस्तिक का रंग हमेशा लाल और पीला होना चाहिए इस रंग के स्वस्तिक को सबसे अच्छा माना जाता है । इसके साथ ही स्वस्तिक को गले में धारण करना बहुत शुभ माना जाता है खासकर अगर किसी विद्यार्थी का पढ़ाई में मन नहीं लग रहा है तो वो विद्यार्थी स्वस्तिक गले में धारण कर सकता है ऐसा करने से उस विद्यार्थी की पढ़ाई के समय एकाग्रता बढ़ेगी और पढ़ाई में भी मन लगेगा। अगर आप स्वस्तिक गले में धारण करना चाहते हैं सोने या चांदी का स्वस्तिक धारण कर सकते हैं।

क्या है स्वस्तिक का महत्व  Kya Hai Svastik Ka Mahatv

स्वस्तिक का हिन्दु धर्म में बहुत अधिक महत्व माना जाता है आपको बता दें कि ऐसा कहा जाता है जिस भी घर में स्वस्तिक का चिन्ह बना होता है उस घर में चारों दिशाओं से मंगल आकर्षित होता है । इसके साथ ही स्वस्तिक के चिन्ह को सौभाग्य का सूचक भी माना जाता है । जो भी व्यक्ति सिंदूर, कुमकुम, चंदन से स्वस्तिक बनाता है उसे ग्रह दोष से मुक्ति मिलती है इसके साथ ही धन आगमन के रास्ते खुलते हैं । ऐसा कहा जाता है कि घर में स्वस्तिक बनाने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं । जैसा कि आप लोग जानते होंगे की हिन्दु धर्म में छोटे से छोटे और बड़े से बड़े अनुष्ठान में
विज्ञापन

स्वस्तिक चिह्न निश्चितरूप से बनाया जाता है। क्योंकि इस चिन्ह को शुभता के प्रतीक के रूप में देखा जाता है इसके साथ ही इसे घर मेें बनाने से सकारात्मक उर्जा का भी संचार होता है। स्वस्तिक चिन्ह बनाने से सारे मांगलिक कार्य सिद्ध होने लगते हैं । इसके साथ ही घर के गेट पर स्वस्तिक चिन्ह बनाने से जीवन में सुख-समृद्धि बनी रहती है।


वास्तु दोष के लिए करें ये उपाय

अगर आप वास्तु दोष के समस्या से परेशान हैं तो आप अपने घर के मुख्य द्वार पर लाल रंग का स्वस्तिक बनाएं आपको बता दें कि लाल रंग के स्वस्तिक बनाने से वास्तु दोष दूर होता है

स्वस्तिक बनाते समय किन बातों का रखें ध्यान  Svastik Banaate Samay Kin Baaton Ka Rakhen Dhyaan

भूल से स्वस्तिक उल्टा ना बनाएं अगर आप उल्टा स्वस्तिक बनाते हैं तो आपको निश्चित रूप से इसके गंभीर परिणाम देखने को मिलेंगे इसलिए स्वस्तिक बनाते समय इस बात का विशेष तौर पर ध्यान रखें की वह सही हो। इसके साथ स्वस्तिक की रेखाएं और कोष बिल्कुल सही होने चाहिए
 

Akshat Puja: पूजा में क्यों चढ़ाया जाता है अक्षत, जानिए अक्षत का महत्व

Lord Vishnu: भगवान विष्णु को क्यों कहा जाता है नारायण ? जानिए इसके पीछे की कहानी

Shani Upay: कैसे पहचानें कुंडली में कमजोर शनि के लक्षण? जानिए शनि ग्रह को मजबूत करने के उपाय

विज्ञापन