विज्ञापन
Home  dharm  shivling abhishek know the complete method of doing shivling abhishek in sawan

Shivling Abhishek: सावन में किस विधि से करें शिवलिंग का अभिषेक, जानिए पूरी विधि

जीवांजलि धार्मिक डेस्क Published by: कोमल Updated Wed, 03 Jul 2024 07:00 AM IST
सार

Shivling Abhishek: हर साल सावन के त्योहार पर लोग शिवलिंग पर जल चढ़ाते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि भगवान शिव के मंदिर में जाकर किस तरह से शिवलिंग पर सही विधि-विधान से जल और नैवेद्य चढ़ाना चाहिए

शिवलिंग अभिषेक
शिवलिंग अभिषेक- फोटो : jeevanjali

विस्तार

Shivling Abhishek: हर साल सावन के त्योहार पर लोग शिवलिंग पर जल चढ़ाते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि भगवान शिव के मंदिर में जाकर किस तरह से शिवलिंग पर सही विधि-विधान से जल और नैवेद्य चढ़ाना चाहिए ताकि विशेष कृपा प्राप्त हो सके। सबसे पहले आपको यह जान लेना चाहिए कि भगवान शिव का विशेष आशीर्वाद पाने के लिए आपको किस तरह से भगवान शिव के मंदिर में जाकर सही विधि-विधान से शिवलिंग पर जल और नैवेद्य चढ़ाना चाहिए। शिव अभिषेक के लिए आपको क्या लेना चाहिए और उसके बाद हम आपको बताएंगे कि इसे चढ़ाने का सही तरीका क्या है। कहा जाता है कि सावन में भगवान शिव अपने परिवार के साथ धरती पर भ्रमण करने आते हैं। वे भक्तों की भक्ति देखते हैं और जो भी सच्चे मन से उनका नाम लेता है भगवान उसकी मनोकामना अवश्य पूरी करते हैं। इसलिए अगर भगवान आपके लिए सबकुछ करते हैं तो आपको भी उनकी पूजा न सिर्फ सच्चे मन से बल्कि सही रीति-रिवाजों से करनी चाहिए।

विज्ञापन
विज्ञापन

शिवलिंग अभिषेक के लिए सामग्री Shivaling Abhishek Ke Liye Saamagree

शिवलिंग का अभिषेक गाय के दूध, गाय के दही, चीनी, शहद, गाय के घी, गंगाजल से करना चाहिए। जल, गन्ने का रस और बेलपत्र

शिवलिंग का अभिषेक करते समय किस मंत्र का जाप करें Shivaling Ka Abhishek Karate Samay Kis Mantr Ka Jaap Karen

ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्। उर्वारुकमिव बन्धनान् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात् ॥

किस तरह करें शिवलिंग का अभिषेक  Kis Tarah Karen Shivaling Ka Abhishek

शिवपुराण के अनुसार जानें शिवलिंग की पूजा की सही विधि सबसे पहले शिवलिंग पर जल चढ़ाएं फिर गाय का दूध, दही, चीनी, शहद, गाय का घी, गंगाजल और गन्ने का रस मिलाकर उससे अभिषेक करें। अंत में जल से स्नान कराएं और फिर भगवान शिव को गाय के दूध से बनी मिठाई का भोग लगाएं

इस तरह से शिवलिंग का अभिषेक करने से आत्मशुद्धि होती है. 

- पुण्य प्राप्ति के लिए  सुगंध अर्पित करें।

- आयु वृद्धि के लिए नैवेद्य अर्पित करें।

- धन प्राप्ति के लिए धूपबत्ती अर्पित करें।

- देसी घी का दीपक जलाकर भगवान के सामने रखने से ज्ञान की वृद्धि होती है।

- पान अर्पित करने से जीवन में सभी प्रकार की समृद्धि प्राप्त होती है। .

तो ऐसे में आपको पूरी श्रद्धा से भगवान शिव की पूजा अर्चना शुरू कर देनी चाहिए। इस साल सावन का त्यौहार आपके लिए किसी चमत्कारी त्यौहार से कम साबित नहीं होगा। बस सच्चे मन से भगवान का नाम जपें, उनकी पूजा करें उचित अनुष्ठानों के साथ और अपने मन को साफ रखें। भगवान शिव भोले भंडारी हैं, जितना अधिक आप उन्हें याद करेंगे, वे उतने ही आपके करीब आएंगे।
विज्ञापन




यह भी पढ़ें-
Sawan Month Shiva Puja Vidhi: भगवान शिव की पूजा में क्यों वर्जित है शंख? जानिए क्या है वजह
Hariyali Teej 2024: इस साल कब मनाई जाएगी हरियाली तीज जानिए सही तिथि और शुभ मुहूूर्त
First Wedding Invitation: सबसे पहले किसे दिया जाता है शादी का कार्ड, जानिए
विज्ञापन