विज्ञापन
Home  dharm  shankh puja vidhi why is conch blown during worship know its importance and benefits

Shankh Puja Vidhi: क्यों बजाया जाता है पूजा में शंख? जानिए इसका महत्व और लाभ

जीवांजलि धर्म डेस्क Published by: निधि Updated Fri, 05 Jul 2024 08:20 AM IST
सार

Shankh Puja Vidhi: धार्मिक दृष्टि से शंख को बहुत पवित्र माना जाता है। किसी भी धार्मिक कार्यक्रम में शंख बजाना शुभ होता है। धार्मिक शास्त्रों के अनुसार शंख भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी को बहुत प्रिय है।

Shankh Puja Vidhi:
Shankh Puja Vidhi:- फोटो : jeevanjali

विस्तार

Shankh Puja Vidhi: धार्मिक दृष्टि से शंख को बहुत पवित्र माना जाता है। किसी भी धार्मिक कार्यक्रम में शंख बजाना शुभ होता है। धार्मिक शास्त्रों के अनुसार शंख भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी को बहुत प्रिय है। शंख से जल चढ़ाने से भगवान हरि प्रसन्न होते हैं और भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं। कहा जाता है कि समुद्र मंथन से प्राप्त अनमोल रत्नों में से एक शंख भी है। शास्त्रों में शंख की पूजा और इससे जुड़े नियमों का उल्लेख किया गया है। आइए जानते हैं शंख का महत्व और इससे जुड़ी जरूरी बातें।
विज्ञापन
विज्ञापन

पूजा में क्यों बजाया जाता है शंख

शंख का संबंध मां लक्ष्मी और भगवान विष्णु से है। ऐसे में भगवान विष्णु की पूजा के दौरान शंख का प्रयोग फलदायी होता है। प्राचीन काल में ऋषि-मुनि यज्ञ के दौरान शंख की पूजा करते थे। शंख की ध्वनि से देवता प्रसन्न होते हैं और भक्तों की पुकार सुनते हैं, इसलिए पूजा के दौरान शंख बजाना शुभ होता है।

प्राचीन काल से ही हमारे ऋषि-मुनि पूजा-पाठ, ध्यान या यज्ञ में शंख का प्रयोग करते आ रहे हैं। कोई भी पूजा-पाठ शंख बजाने के बाद ही सफल और संपूर्ण मानी जाती है। मान्यताओं के अनुसार शंख बजाने से भगवान का आशीर्वाद मिलता है और मनोकामनाएं पूरी होती हैं। शंख से निकलने वाली ध्वनि सभी बाधाओं और दोषों को दूर करती है। मान्यता है कि जिस घर में शंख होता है, वहां देवी लक्ष्मी अपनी कृपा बरसाती हैं। पूजा घर में दक्षिणावर्ती शंख रखना और बजाना बेहद शुभ माना जाता है। सुबह-शाम शंख बजाने से घर बुरी नजर से बचा रहता है।

विज्ञापन

पूजाघर में रखे शंख, देवी लक्ष्मी का होगा वास

पूजा घर में शंख रखने से देवी लक्ष्मी का वास होता है। दक्षिणावर्ती शंख और भी अधिक शुभ और फलदायी होता है। सुबह-शाम शंख बजाने से घर में मौजूद बुरी शक्तियों का नाश होता है और सकारात्मक ऊर्जा के प्रवाह के साथ परिवार के सदस्यों का मन सकारात्मक रहता है।

शंख  के लाभ

समुद्र मंथन के दौरान देवी लक्ष्मी के साथ शंख की उत्पत्ति हुई थी। ऐसे में शंख को देवी लक्ष्मी का भाई माना जाता है। मान्यता है कि जिस घर में शंख होता है, वहां देवी लक्ष्मी हमेशा निवास करती हैं। दक्षिणावर्ती शंख को भगवान के समान माना जाता है। इसे पूजा घर में रखना और बजाना बेहद शुभ माना जाता है। पूजा स्थल पर शंख को हमेशा जल से भरकर रखना चाहिए। शंख में जल भरकर घर में छिड़कने से घर की नकारात्मक ऊर्जा खत्म होती है। घर में सुबह-शाम शंख बजाने से भूत-प्रेत की बाधा भी दूर होती है।

इन बातों का रखें ध्यान

शंख के अंदर जल नहीं रखना चाहिए। शंख को ज़मीन पर भी नहीं रखना चाहिए। इसे हमेशा साफ़ कपड़े से ढक कर रखें। पूजा के दौरान शंख में जल रखा जा सकता है। शंख को पूजा स्थल पर रखते समय इसका खुला हिस्सा ऊपर की ओर होना चाहिए। इसे हमेशा भगवान विष्णु, लक्ष्मी या बाल गोपाल की मूर्ति के दाईं ओर रखें।

यह भी पढ़ें:-
Unluck Plants for Home: शुभ नहीं, बल्कि अशुभ माने जाते हैं ये पौधे ! घर में लगाने से आती है दरिद्रता
What is Karma Akarama Vikarma : कर्म अकर्म और विकर्म क्या है? जानिए
Panchmukhi Shiv: भगवान शिव के क्यों है पांच मुख? जानिए इन 5 मुख का रहस्य


 
विज्ञापन