विज्ञापन
Home  dharm  ma laxmi why is maa lakshmi worshipped on friday know the method of worship and benefits

Ma Laxmi: शुक्रवार के दिन क्यों की जाती है मां लक्ष्मी की पूजा, जानिए पूजा विधि और लाभ

जीवांजलि धार्मिक डेस्क Published by: कोमल Updated Fri, 14 Jun 2024 10:54 AM IST
सार

Ma Laxmi:  जिस व्यक्ति पर मां लक्ष्मी की कृपा बरसती है, उसकी किस्मत बदल जाती है। हर कोई चाहता है कि बैंक बैलेंस कभी खाली न हो। जीवन में इतना पैसा हो कि हर मुश्किल छोटी लगे।

माँ लक्ष्मी
माँ लक्ष्मी- फोटो : jeevanjali

विस्तार

Ma Laxmi: जिस व्यक्ति पर मां लक्ष्मी की कृपा बरसती है, उसकी किस्मत बदल जाती है। हर कोई चाहता है कि बैंक बैलेंस कभी खाली न हो। जीवन में इतना पैसा हो कि हर मुश्किल छोटी लगे। यही वजह है कि घरों में ही नहीं बल्कि कार्यस्थल पर भी मां लक्ष्मी की पूजा की जाती है, ताकि आशीर्वाद के साथ-साथ सुख-समृद्धि भी आती रहे। आइए आज के लेख में आपको बताते हैं कि मां लक्ष्मी की पूजा कैसे करें
विज्ञापन
विज्ञापन

शुक्रवार को क्यों की जाती है मां लक्ष्मी की पूजा Why is Goddess Lakshmi worshipped on Friday?

हिंदू धर्म में शुक्रवार का दिन मां लक्ष्मी को समर्पित होता है, इस दिन जो भी व्यक्ति विधि-विधान से मां लक्ष्मी की पूजा करता है, उसे बहुत लाभ मिलता है

शुक्रवार मां लक्ष्मी पूजा विधि  Shukrawar Maa Lakshmi Puja Vidhi

शुक्रवार के दिन मां लक्ष्मी की पूजा करने के लिए सुबह जल्दी उठकर स्नान करें और उसके बाद साफ कपड़े पहनें। इस दिन लाल कपड़े पहनना शुभ माना जाता है। इसके बाद पूजा की तैयारी करें। पूजा के लिए एक चौकी तैयार करें और उस पर लाल कपड़ा बिछाकर मां लक्ष्मी की फोटो या मूर्ति स्थापित करें। अब मां लक्ष्मी को लाल तिलक लगाएं और फूल, रोली, लाल बिंदी, चुनरी, चूड़ियां आदि श्रृंगार का सामान चढ़ाएं। इसके बाद मिठाई या खीर का भोग लगाएं। फिर धूपबत्ती जलाकर मां लक्ष्मी की आरती करें। अगर आप शुक्रवार का व्रत कर रहे हैं तो व्रत कथा जरूर पढ़ें।
विज्ञापन

शुक्रवार के उपाय (Shukrawar Ke Upay)

शुक्रवार के दिन सफेद रंग की वस्तुओं का दान करने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं और जीवन में सुख-समृद्धि आती है।

शुक्रवार की पूजा में मां लक्ष्मी को सुहाग से जुड़ी वस्तुएं जरूर अर्पित करें। इससे भी मां प्रसन्न होती हैं।

अगर आप शुक्रवार के दिन काली चींटियों को चीनी खिलाते हैं तो इससे आर्थिक समस्याएं दूर होती हैं 

अगर धन नहीं टिकता है और हमेशा पैसों की कमी रहती है तो इसके लिए शुक्रवार के दिन मां लक्ष्मी के चरणों में कमल का फूल, मखाना और बताशा चढ़ाएं।

शुक्रवार के दिन घर की अच्छे से सफाई करें और पूरे घर में गंगाजल छिड़कें। शाम के समय घर के मुख्य द्वार पर घी का दीपक जलाएं। इससे सकारात्मकता बढ़ती है और घर में मां लक्ष्मी का आगमन होता है।

शुक्रवार को लक्ष्मी पूजा का विशेष महत्व है Lakshmi Puja on Friday has special significance

इस दिन लक्ष्मी की पूजा करने से धन की प्राप्ति होती है, इसलिए अगर आपके घर में भी मां लक्ष्मी नहीं रह रही हैं, तो शुक्रवार को मां लक्ष्मी की पूजा करें और इस दिन व्रत भी रखें। लक्ष्मी मां को धन की देवी कहा जाता है, इसलिए लोग उनकी पूजा करते हैं। ऐसे में कई उपाय, पूजा, आराधना और मंत्र जाप हैं जिनकी मदद से आप माता लक्ष्मी को प्रसन्न कर सकते हैं।



शुक्रवार को करें ये उपाय Shukravaar Ko KarenYe Upaay


1. शुक्रवार को मां लक्ष्मी की पूजा के लिए बेहद खास माना जाता है। अगर आपने शुक्रवार को व्रत रखा है, तो सुबह जल्दी उठकर स्नान-ध्यान करने के बाद क्रीम रंग के कपड़े पहनें। इसके बाद श्रीयंत्र की पूजा करें। मान्यता है कि इस दिन श्री सूक्त का पाठ करना भी बेहद शुभ होता है।

2. शुक्रवार को मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए किसी मंदिर में जाकर उनकी प्रिय चीजें जैसे कमल का फूल, कौड़ी, शंख, लाल या गुलाबी कपड़ा चढ़ाएं। इससे आर्थिक समस्याएं दूर होती हैं।

3. कहा जाता है कि जिस जगह साफ-सफाई होती है, वहां देवी लक्ष्मी निवास करती हैं। देवी लक्ष्मी गंदे स्थानों से दूरी बनाए रखती हैं। ऐसे में अपने घर और कार्यस्थल को हमेशा साफ रखें। खासतौर पर शुक्रवार के दिन अपने कार्यस्थल को साफ करें। इससे धन लाभ होगा।

4. अगर आप अपने घर में धन की देवी मां लक्ष्मी का स्थायी निवास चाहते हैं तो पूजा स्थल को ईशान कोण में बनाएं और पूर्व दिशा की ओर मुख करके बैठकर मां लक्ष्मी की पूजा करें। पूजा स्थल के पास रसोई या शौचालय नहीं होना चाहिए।

5. मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए शुक्रवार के दिन मां को मिश्री और खीर का भोग लगाना चाहिए। इसके साथ ही स्फटिक या कमल गट्टे की माला से मां लक्ष्मी के मंत्रों का जाप करें। यह काफी कारगर माना जाता है। इस उपाय को करने से मां की कृपा जल्दी प्राप्त होती है।

मां लक्ष्मी की आरती Ma Laxmi Aarti


ॐ जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता

तुमको निशदिन सेवत, मैया जी को निशदिन * सेवत हरि विष्णु विधाता

ॐ जय लक्ष्मी माता-2

उमा, रमा, ब्रह्माणी, तुम ही जग-माता

सूर्य-चन्द्रमा ध्यावत, नारद ऋषि गाता

ॐ जय लक्ष्मी माता-2

दुर्गा रूप निरंजनी, सुख सम्पत्ति दाता

जो कोई तुमको ध्यावत, ऋद्धि-सिद्धि धन पाता

ॐ जय लक्ष्मी माता-2

तुम पाताल-निवासिनि, तुम ही शुभदाता

कर्म-प्रभाव-प्रकाशिनी, भवनिधि की त्राता

ॐ जय लक्ष्मी माता-2

जिस घर में तुम रहतीं, सब सद्गुण आता

सब सम्भव हो जाता, मन नहीं घबराता

ॐ जय लक्ष्मी माता-2

तुम बिन यज्ञ न होते, वस्त्र न कोई पाता

खान-पान का वैभव, सब तुमसे आता

ॐ जय लक्ष्मी माता-2

शुभ-गुण मन्दिर सुन्दर, क्षीरोदधि-जाता

रत्न चतुर्दश तुम बिन, कोई नहीं पाता

ॐ जय लक्ष्मी माता-2
विज्ञापन