विज्ञापन
Home  dharm  july festival calendar 2024 which festivals will fall in the month of july

July Festival Calendar 2024: जुलाई महीने में पड़ेंगे कौन -कौन से त्योहार

जीवांजलि धार्मिक डेस्क Published by: कोमल Updated Sun, 23 Jun 2024 12:26 PM IST
सार

July Festival Calendar 2024:  हिंदू धर्म में पूजा-पाठ और त्योहारों का विशेष महत्व होता है। तीज-त्योहार इसके अहम पहलुओं में से एक है। ऐसे में जब जुलाई महीना शुरू होने वाला है तो आइए जानते हैं

जुलाई में पड़ने वाले त्योहार
जुलाई में पड़ने वाले त्योहार- फोटो : jeevanjali

विस्तार

July Festival Calendar 2024:  हिंदू धर्म में पूजा-पाठ और त्योहारों का विशेष महत्व होता है। तीज-त्योहार इसके अहम पहलुओं में से एक है। ऐसे में जब जुलाई महीना शुरू होने वाला है तो आइए जानते हैं इस महीने आने वाले सभी व्रत-त्योहारों की तारीख, ताकि इनकी तैयारियां पहले से की जा सके। हिंदू पंचांग के अनुसार जुलाई साल का चौथा महीना होता है, जिसे आषाढ़ माह के नाम से जाना जाता है। इस दौरान पुरी जगन्नाथ रथ यात्रा, गुप्त नवरात्रि, प्रदोष व्रत, सावन सोमवार और कामिका एकादशी जैसे कई त्योहार पड़ेंगे, तो आइए जानते हैं इसकी सही तारीख के बारे में
विज्ञापन
विज्ञापन

जुलाई माह के व्रत और त्योहारों की पूरी लिस्ट

02 जुलाई , 2024 दिन मंगलवार, योगिनी एकादशी
03 जुलाई, 2024 दिन बुधवार, रोहिणी व्रत
05 जुलाई, 2024 दिन शुक्रवार, अमावस्या
06 जुलाई, 2024 दिन शनिवार, गुप्त नवरात्र प्रारंभ
07 जुलाई, 2024 दिन रविवार , पूरी जगन्नाथ रथ यात्रा , चंद्र दर्शन
09 जुलाई, 2024 दिन मंगलवार, वरद चतुर्थी
11 जुलाई, 2024 दिन मंगलवार , कौमार षष्ठी
14 जुलाई, 2024 दिन रविवार , दुर्गाष्टमी व्रत
16 जुलाई, 2024 दिन मंगलवार , कर्क संक्रांति
17 जुलाई, 2024 दिन बुधवार , आषाढ़ी एकादशी , आशुरा के दिन, देवश्यानी एकादशी
19 जुलाई, 2024 दिन शु्क्रवार, जाया पार्वती व्रत प्रारंभ , प्रदोष व्रत
21 जुलाई, 2024 दिन रविवार , गुरु पूर्णिमा
22 जूलाई, 2024 दिन सोमवार , कांवड़ यात्रा
24 जुलाई, 2024 दिन बुधवार , जाया पार्वती व्रत समाप्त
28 जुलाई, 2024 दिन रविवार, कालाष्टमी
31 जुलाई, 2024 दिन बुधवार, कामिका एकादशी


आषाढ़ माह में इन बातों का रखें ध्यान

इस दौरान भगवान शिव और श्री हरि की पूजा का विधान है। इसलिए उनके वैदिक मंत्रों का जाप करें। तामसिक चीजों से दूर रहें। सूर्योदय से पहले उठें। जरूरतमंद लोगों की मदद करें। धार्मिक गतिविधियों से जुड़े रहें। इसके साथ ही किसी भी व्यक्ति के साथ दुर्व्यवहार करने से बचें।
विज्ञापन

 

Akshat Puja: पूजा में क्यों चढ़ाया जाता है अक्षत, जानिए अक्षत का महत्व

Lord Vishnu: भगवान विष्णु को क्यों कहा जाता है नारायण ? जानिए इसके पीछे की कहानी

Shani Upay: कैसे पहचानें कुंडली में कमजोर शनि के लक्षण? जानिए शनि ग्रह को मजबूत करने के उपाय

विज्ञापन