विज्ञापन
Home  dharm  ganga snan ke niyam know the rules of bathing in ganga

Ganga Snan Ke Niyam: क्या है गंगा स्नान के नियम जानिए

जीवांजलि धार्मिक डेस्क Published by: कोमल Updated Sun, 07 Jul 2024 06:00 AM IST
सार

Ganga Snan Ke Niyam : हम विशेष पर्वों और अवसरों पर मां गंगा के पवित्र जल में डुबकी लगाते हैं। अगर आप प्रतिदिन गंगा में डुबकी लगाते हैं तो आपको विशेष फल की प्राप्ति होती है। लेकिन हम अपनी कुछ गलतियों के कारण इसका गलत अर्थ निकाल लेते हैं।

गंगा स्नान के नियम
गंगा स्नान के नियम- फोटो : jeevanjali

विस्तार

Ganga Snan Ke Niyam : हम विशेष पर्वों और अवसरों पर मां गंगा के पवित्र जल में डुबकी लगाते हैं। अगर आप प्रतिदिन गंगा में डुबकी लगाते हैं तो आपको विशेष फल की प्राप्ति होती है। लेकिन हम अपनी कुछ गलतियों के कारण इसका गलत अर्थ निकाल लेते हैं। ऐसा माना जाता है कि गंगा में डुबकी लगाने से शारीरिक और मानसिक तनाव दूर होता है। यही वजह है कि मां गंगा जिन स्थानों से होकर गुजरती हैं, वहां प्रतिदिन श्रद्धालु घाटों पर आते रहते हैं। आइए आपको बताते हैं कि गंगा में स्नान के क्या नियम हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन

क्या हैं गंगा में स्नान करने के नियम

गंगा में स्नान करना अच्छा होता है

गंगा में स्नान करने से पहले सामान्य पानी से अच्छे से स्नान करें

बस गंगा नदी में डुबकी लगाएं

गंगा नदी में शरीर से गंदगी न निकालें

नहाते समय रगड़- रगड़ कर नहाए 

गंगा में स्नान करने के बाद शरीर को कपड़े से नहीं पोंछना चाहिए

पानी को शरीर में ही सूखने देना चाहिए

गंगा में मल-मूत्र त्याग नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से आप पाप के भागी बनते हैं।

गंगा नदी में भूलकर भी कपड़े ना धोएं।

गंगा नदी में भूलकर भी माला  फूल और किसी भी तरह का कूड़ा-कचरा नहीं फेंकना चाहिए। ऐसा करने से आप पाप के भागी बनते हैं।

गंगा में डुबकी लगाने के क्या नियम हैं?

ज्योतिष शास्त्र में गंगा में डुबकी लगाने के कई नियम बताए गए हैं, जिन्हें गंगा में स्नान करते समय जरूर ध्यान में रखना चाहिए। गंगा में डुबकी लगाने से पहले मां गंगा को छूकर प्रणाम करना चाहिए। इसके अलावा डुबकी लगाते समय मां गंगा का ध्यान करना चाहिए और हर-हर गंगे के नारे के साथ 3, 5 या 7 बार डुबकी लगानी चाहिए। इस दौरान व्यक्ति को अपने सभी कष्टों और पापों के नाश के लिए मन ही मन मां गंगा से प्रार्थना करनी चाहिए।

यह भी पढ़ें:-
Unluck Plants for Home: शुभ नहीं, बल्कि अशुभ माने जाते हैं ये पौधे ! घर में लगाने से आती है दरिद्रता
विज्ञापन

Garuda Purana : गरुण पुराण क्या है, क्यों किया जाता है इसका पाठ? जानिए
Panchmukhi Shiv: भगवान शिव के क्यों है पांच मुख? जानिए इन 5 मुख का रहस्य
विज्ञापन