विज्ञापन
Home  dharm  bhajan  mera koi na sahara bin tere mera koi na sahara bin tere krishna bhajan lyrics

Mera Koi Na Sahara Bin Tere: मेरा कोई ना सहारा बिन तेरे, कृष्णा भजन लिरिक्स

Jeevanjali Published by: सुप्रिया शर्मा Updated Wed, 26 Jun 2024 06:08 PM IST
सार

Mera Koi Na Sahaara Bin Tere Ghanashyaam Saanvariya Mere : भजनों में प्रेम और करुणा की भावनाएं प्रकट होती हैं। कृष्ण जी के प्रति प्रेम और भक्तिभाव भक्तों में दयालुता, क्षमा और सहिष्णुता जागृत करता है।

भजन
भजन- फोटो : jeevanjali

विस्तार

Mera Koi Na Sahaara Bin Tere: भजनों में प्रेम और करुणा की भावनाएं प्रकट होती हैं। कृष्ण जी के प्रति प्रेम और भक्तिभाव भक्तों में दयालुता, क्षमा और सहिष्णुता जागृत करता है। भजनों में जीवन जीने की कला सिखाई जाती है। 
विज्ञापन
विज्ञापन

   || मेरा कोई ना सहारा बिन तेरे, घनश्याम सांवरिया मेरे || Mera Koi Na Sahaara Bin Tere
|| कृष्णा भजन ||


मेरा कोई ना सहारा बिन तेरे,
घनश्याम सांवरिया मेरे ।। 

तेरे बिना मेरा है कौन यहाँ,
प्रभु तुम्हे छोड़ मैं जाऊं कहाँ,
मैं तो आन पड़ा हूँ दर तेरे,
घनश्याम सांवरिया मेरे।। 

मेने जन्म लिया जग में आया,
तेरी कृपा से ये नर तन पाया,
तूने किये उपकार घनेरे,
घनश्याम सांवरिया मेरे।। 

मेरे नैना कब से तरस रहे,
सावन भादों हैं बरस रहे,
अब छाए घनघोर अंधेरे,
घनश्याम सांवरिया मेरे।। 

प्रभु आ जाओ प्रभु आ जाओ,
अब और ना मुझको तरसाओ,
काटो जन्म मरण के फेरे,
घनश्याम सांवरिया मेरे।। 

जिस दिन से दुनिया में आया,
मैंने पल भर चैन नहीं पाया,
सहे कष्ट पे कष्ट घनेरे,
घनश्याम सांवरिया मेरे।। 

|| मेरा कोई ना सहारा बिन तेरे, घनश्याम सांवरिया मेरे || 
विज्ञापन