विज्ञापन
Home  dharm  bhagvad geeta what is karma akarma and vikarma know here

What is Karma Akarama Vikarma : कर्म अकर्म और विकर्म क्या है? जानिए

जीवांजलि धार्मिक डेस्क Published by: कोमल Updated Thu, 04 Jul 2024 12:06 PM IST
सार

What is Karma Akarama Vikarma : जीवन में कर्म का महत्व इतना है कि यह आपके जीवन और भाग्य के बड़े फैसले तय करता है। ऐसे में यह जानना जरूरी है कि आप किस तरह का कर्म कर रहे हैं। 

भागवद गीता
भागवद गीता- फोटो : jeevanjali

विस्तार

What is Karma Akarama Vikarma:  जीवन में कर्म का महत्व इतना है कि यह आपके जीवन और भाग्य के बड़े फैसले तय करता है। ऐसे में यह जानना जरूरी है कि आप किस तरह का कर्म कर रहे हैं। गीता में भगवान कृष्ण ने कर्म करने के तीन माध्यम और कर्म के तीन प्रकार बताए हैं। कर्म करने के माध्यम के साथ-साथ भगवान कृष्ण ने गीता में तीन प्रकार के कर्म बताए हैं। उनके अनुसार हर इंसान को ये तीन प्रकार के कर्म जानने चाहिए क्योंकि कर्म ही इंसान का जीवन, मोक्ष और बंधन सब कुछ तय करता है। इन तीन प्रकार के कर्मों को जानकर ही वह शुभ-अशुभ, पाप-पुण्य, धर्म-अधर्म का फैसला कर पाएगा। उन्होंने जो तीन प्रकार के कर्म बताए हैं वो हैं कर्म, अकर्म और विकर्म। आज के लेख में हम आपको बताएंगे कि कर्म, अकर्म और विकर्म क्या हैं
विज्ञापन
विज्ञापन

कर्म क्या है

कर्म वह है जिसमें व्यक्ति इंद्रियों के संतुलित व्यवहार को समझता है और अपने मन को शुद्ध रखते हुए संसार के सुख-दुखों का अनुभव करता है, उसकी बुद्धि मोहग्रस्त नहीं होती।

विज्ञापन


विकर्म क्या है

इसके बाद विकर्म आता है, जो कर्म की आगे की गति है। कई बार जब व्यक्ति बार-बार कर्म में सफल होता है, तो अहंकार के कारण उसे कर्ता होने का भाव आ जाता है। क्रोध और अहंकार में वह कब बुरे कर्म करने लगता है, उसे पता भी नहीं चलता। उसी कर्म को पुराणों में "विकर्म" कहा गया है। एक तीसरा कर्म है जिसे "अकर्म" कहते हैं।

अकर्म क्या है

इस कर्म में व्यक्ति को कर्ता होने का भाव नहीं रहता और वह अपने सभी कर्म, अपनी बुद्धि, कर्मों के फल भगवान के चरणों में समर्पित कर देता है। जो कर्म व्यक्ति को इस संसार के बंधन में नहीं डालता, उसे कृष्ण ने "अकर्म" कहा है।

यह भी पढ़ें-
Sawan Month Shiva Puja Vidhi: भगवान शिव की पूजा में क्यों वर्जित है शंख? जानिए क्या है वजह
Hariyali Teej 2024: इस साल कब मनाई जाएगी हरियाली तीज जानिए सही तिथि और शुभ मुहूूर्त
First Wedding Invitation: सबसे पहले किसे दिया जाता है शादी का कार्ड, जानिए
विज्ञापन