विज्ञापन
Home  astrology  vastu  vastu benefits of blue aparajita plant benefit lakshmi narayan plant lucky plants for home

Aparajita Plant benefit: आज ही अपने घर में लगाएं भगवान विष्णु का ये प्रिय पौधा? बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपा

जीवांजलि धर्म डेस्क Published by: निधि Updated Thu, 13 Jun 2024 08:00 AM IST
सार

Vastu Benefits of Blue Aparajita: जिस तरह वास्तु शास्त्र में घर में रखी जाने वाली चीजों और दिशाओं के बारे में विस्तार से बताया गया है,

Aparajita Plant benefit:
Aparajita Plant benefit:- फोटो : jeevanjali

विस्तार

Vastu Benefits of Blue Aparajita: जिस तरह वास्तु शास्त्र में घर में रखी जाने वाली चीजों और दिशाओं के बारे में विस्तार से बताया गया है, उसी तरह पेड़-पौधों का भी महत्व बताया गया है। वास्तु में ऐसे कई पेड़-पौधे बताए गए हैं, जो घर में खुशियां और सकारात्मक ऊर्जा लाते हैं। इन पौधों का हमारे जीवन पर गहरा प्रभाव पड़ता है। इन्हीं पौधों में से एक है अपराजिता। अपराजिता की बेल को कृष्णकांता या विष्णुकांता भी कहते हैं। इसके फूल सफेद और नीले रंग के होते हैं। धार्मिक मान्यता है कि भगवान विष्णु को नीला अपराजिता बहुत प्रिय है। वास्तु शास्त्र में कृष्णकांता की बेल को 'धन बेल' भी कहा जाता है। वहीं ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कृष्णकांता की बेल जैसे-जैसे बढ़ती है, घर में सुख-समृद्धि बढ़ती जाती है। ऐसे में आइए जानते हैं नीले अपराजिता के क्या-क्या फायदे हैं और इसे किस दिशा में लगाना सबसे अच्छा होता है...
विज्ञापन
विज्ञापन

नीली अपराजिता लगाने के फायदे

नकारात्मक ऊर्जा होती है खत्म 

वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर में नीली अपराजिता लगाने से घर नकारात्मक ऊर्जा खत्म होती है और सकारात्मक ऊर्जा का वास होता है।  

धन की देवी लक्ष्मी होती हैं आकर्षित

धार्मिक मान्यता है कि भगवान विष्णु को प्रिय होने के कारण कृष्णकांता यानी नीली अपराजिता बेल देवी लक्ष्मी को भी आकर्षित करती है। जिस घर में यह पौधा लगा होता है, वहां देवी लक्ष्मी स्वयं निवास करती हैं और धनवान बनने के लिए की गई मेहनत सफल होती है।

बुद्धि होती है कुशाग्र 

नीली अपराजिता की बेल घर में लगाने से परिवार के सदस्यों की बुद्धि तेज होती है। ऐसा भी कहा जाता है कि अगर इसका फूल भगवान विष्णु को चढ़ाया जाए तो परिवार को कभी हार का सामना नहीं करना पड़ता।
विज्ञापन

शनि दोष मिटाते हैं नीली अपराजिता के फूल

मान्यता है कि भगवान शनिदेव को कृष्णकांता यानी नीली अपराजिता बेल के सुंदर नीले फूल चढ़ाने से भी शनि की साढ़ेसाती या महादशा से होने वाली परेशानियों से राहत मिलती है।

किस दिशा में लगाएं नीली अपराजिता की बेल?

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर की उत्तर दिशा में नीली अपराजिता की बेल लगानी चाहिए। इससे शुभ फल मिलते हैं और घर में खुशियां बनी रहती हैं। ध्यान रखें कि इस बेल को कभी भी पश्चिम या दक्षिण दिशा में नहीं लगाना चाहिए।
विज्ञापन